राष्ट्रीय लघु उद्योग निगम

(भारत सरकार का उपक्रम)

1955 से लघु उद्यम के विकास की सुविधा

एकल बिंदु पंजीकरण योजना

सरकार विभिन्न प्रकार के सामानों की सबसे बड़ी एकल खरीदार है। लघु उद्योग क्षेत्र से खरीद की हिस्सेदारी बढ़ाने के उद्देश्य से, सरकारी भंडार खरीद कार्यक्रम 1955-56 में शुरू किया गया था। एनएसआईसी, सरकारी खरीद में भागीदारी के लिए एकल बिंदु पंजीकरण योजना (एसपीआरएस) के अंतर्गत सूक्ष्म और लघु उद्यमों (एमएसई) को पंजीकृत करता है।

पंजीकरण के लाभ

एनएसआईसी की एकल बिंदु पंजीकरण योजना के तहत पंजीकृत इकाइयाँ, भारत सरकार द्वारा अधिसूचित सूक्ष्म और लघु उद्यमों (एमएसई उद्यम) आदेश 2012 के लिए सार्वजनिक खरीद नीति के तहत लाभ प्राप्त करने के लिए पात्र हैं। जैसा कि भारत सरकार सूक्ष्म लघु और मध्यम उद्योग मंत्रालय, नई दिल्ली की दिनांक 23.03.2012 राजपत्र अधिसूचना तथा दिनांक 9 नवंबर 2018. के अनुसार अधिसूचित किया गया है कि संशोधन क्रमांक सं.एस.ओ 5670 (ई)

  • नि:शुल्क निविदा सेट जारी करना
  • अग्रिम बयाना राशि (EMD) के भुगतान से छूट;
  • निविदा भागीदारी मे, जहां एल-1 गैर- सूक्ष्म और लघु इकाइयाँ रही हों है, वहां पर यदि सूक्ष्म और लघु इकाई ने एल 1+15 % मूल्य भरा है, परंतु एमएसएमईज अपना मूल्य कम करके एल-1 के बराबर आती है तो उसको एल-1 मूल्य पर 25% तक की माल/समानों आपूर्ति करने की अनुमति दी जाएगी।
  • प्रत्येक केंद्रीय मंत्रालय/ विभाग/ सार्वजनिक उपक्रम, एमएसई द्वारा उत्पादित या प्रदत्त उत्पादों या सेवाओं की कुल वार्षिक खरीद का न्यूनतम 25 प्रतिशत वार्षिक लक्ष्य इन उद्यमों से खरीद करने का इन उद्यमों से खरीद करने का निर्धारित करेंगे। एमएसएमईज से 25% खरीद की वार्षिक आवश्यकता में से 4% अनुसूची जाति / अनुसूची जनजातियों के स्वामित्व वाली इकाइयों से और 3% महिला उद्यमियों के स्वामित्व वाली इकाइयों से खरीद किया जाना निर्धारित है।
  • उपरोक्त के अलावा, 358 ऐसी आइटम भी हैं जो एसएसआई सेक्टर से ही खरीद के लिए आरक्षित हैं (सूची डाउनलोड अनुभाग में नीचे दी गई है)।

पात्रता

  • ईएम पार्ट- II (वैकल्पिक) / उद्योग आधार ज्ञापन (यूएएम) वाले सभी सूक्ष्म और लघु उद्यम अपनी एकल बिंदु पंजीकरण योजना (एसपीआरएस) के तहत एनएसआईसी के साथ पंजीकरण के लिए पात्र हैं।
  • सूक्ष्म और लघु उद्यम जो पहले से ही अपने वाणिज्यिक उत्पादन की शुरुआत कर चुके हैं, लेकिन अस्तित्व के एक वर्ष पूरा नहीं हुए हैं, ऐसे सूक्ष्‍म व लघु उद्यम को प्रोविजनल रजिस्ट्रेशन सर्टिफिकेट सिंगल प्वाइंट रजिस्ट्रेशन स्कीम के तहत 5.00 लाख रुपये की मौद्रिक सीमा के साथ जारी किया जा सकता है। जो पंजीकरण शुल्क लेने और अपेक्षित दस्तावेज प्राप्त करने के बाद पंजीकरण जारी करने की तिथि से केवल एक वर्ष की अवधि के लिए ही मान्य होगा।

आवेदन कैसे करें

एमएसएमईज (MSEs) को हमारी वेबसाइट www.nsicspronline.com पर या तो ऑनलाइन या दो प्रतियां में निर्धारित आवेदन पत्र पर आवेदन करते हुए यूनिट के निकटतम स्थित एनएसआईसी के संबंधित जोनल / शाखा कार्यालय में जमा करना होगा। आवेदन पत्र भरने और प्रलेखन को पूरा करने में किसी भी कठिनाई के मामले में, कृपया एनएसआईसी के किसी भी जोनल / शाखा कार्यालय से परामर्श करें। एनएसआईसी के सभी कार्यालयों में नियम और शर्तें सहित आवेदन पत्र नि: शुल्क उपलब्ध हैं। आवेदन पत्र भरने हेतु संलग्न दिशा-निर्देश, उन दस्तावेजों के लिए एक चेक लिस्ट किया गया हैं जिन्हें आवेदन के साथ प्रस्तुत करना आवश्यक है।

पंजीकरण शुल्क

पंजीकरण शुल्क शुद्ध बिक्री टर्नओवर पर आधारित है, पंजीकरण, नवीकरण और किसी भी अन्य संशोधन आदि के लिए सूक्ष्‍म एवं लघु उद्यम की नवीनतम लेखा परीक्षित बैलेंस शीट के अनुसार लिया जाता है। विस्तृत शुल्क संरचना के लिए कृपया नीचे डाउनलोड अनुभाग देखें।


पंजीकरण शुल्क निरीक्षण शुल्क को छोड़कर है। निरीक्षण एजेंसियों और उनके शुल्क के विवरण के लिए कृपया नीचे डाउनलोड अनुभाग देखें।


पंजीकरण की प्रक्रिया

  1. सूक्ष्म और लघु उद्यमों को हमारी वेबसाइट www.nsicspronline.com पर या तो ऑनलाइन या निर्धारित आवेदन पत्र (दो प्रतियों में) के साथ आवश्यक शुल्क और दस्तावेजों के साथ उनकी इकाई के निकट स्थित NSIC को आंचलिक / शाखा / उप शाखा और उप कार्यालय / एक्सटेंशन पर ऑनलाइन आवेदन करना होगा।
  2. सूक्ष्‍म व लघु उद्यम द्वारा प्रस्तुत पंजीकरण आवेदन पत्र आवश्यक दस्तावेजों की प्रतियों के साथ जीपी की दूसरी कॉपी। संबंधित निरीक्षण एजेंसी को भेज दी जाएगी और संबंधित निरीक्षण एजेंसी के पक्ष में प्रेषित निरीक्षण शुल्क को समर्थन में सके तकनीकी निरीक्षण के लिए अनुरोध किया जाएगा और निरीक्षण के दौरान इस संबंध में उनकी सिफारिशों को आगे इकाई को भेज दिया जाएगा।
  3. निरीक्षण रिपोर्ट प्राप्त करने के बाद एनएसआईसी सिफारिश की गई मदों / स्‍टोर्स के लिए माइक्रो एंड स्मॉल एंटरप्राइज को एकल बिन्‍दू पंजीकरण प्रमाण पत्र जारी कर देगा।

सूक्ष्म और लघु उद्यमों की मौद्रिक सीमाओं की गणना और निर्धारण की प्रक्रिया।

कंपनी की मौद्रिक सीमा लेखा परीक्षित बैलेंस शीट्स में परिलक्षित पिछले तीन वर्षों के दौरान यूनिट की शुद्ध बिक्री कारोबार के आधार पर तय की जाती है।

पिछले तीन वर्षों के दौरान उच्चतम टर्नओवर के आधार पर मौद्रिक सीमा तय की जाएगी जो पिछले साल की टर्नओवर की हो सकती है या नहीं, बशर्ते कि स्थापित की गई इकाइयाँ और परिचालन क्षमता कम न हुई हो।

  • यदि संयंत्र और मशीनरी में कोई कमी नहीं है, तो लेखा परीक्षित बैलेंस शीट में परिलक्षित पिछले 3 वर्षों के दौरान उच्चतम कारोबार का 50% मौद्रिक सीमा के निर्धारण का आधार होगा।
  • यदि संयंत्र और मशीनरी में 10% से अधिक की कमी होती है, तो निम्नलिखित पर विचार किया जाएगा:
    1. जहां उद्यम का कारोबार पिछले तीन वर्षों में लगातार बढ़ा है और इकाई लगातार लाभ में है, अंतिम वर्ष में हासिल की गई कुल बिक्री का 50% तक मौद्रिक सीमा तय की जा सकती है।
    2. यदि कंपनी / साझेदारी प्रतिष्‍ठान/ स्‍वामित्‍व वाली यूनिट पिछले तीन वर्षों में से किसी एक वर्ष के लिए नुकसान में है, तो उनकी मौद्रिक सीमा का उनके निर्धारित औसत शुद्ध बिक्री कारोबार का 40% तक तय की जाएगी।
    3. इसी प्रकार, जब सूक्ष्म और लघु उद्यम पिछले तीन वर्षों में से दो साल तक नुकसान में रही हो, तो मौद्रिक सीमा, तदनुसार पिछले तीन वर्षों के उनके कुल शुद्ध बिक्री कारोबार का 30% तक निर्धारित तक निर्धारित होगी।
    4. यदि पिछले तीन वर्षों में सूक्ष्म और लघु उद्यम के नुकसान की स्थिति में, रही है तो यूनिट की मौद्रिक सीमा पिछले तीन वर्षों के दौरान यूनिट के औसत शुद्ध बिक्री कारोबार का 20% तक तय की जाएगी।

सरकारी खरीद पंजीकरण की वैधता अवधि

एकल बिंदु पंजीकरण योजना (संशोधित)2003 के तहतसूक्ष्म और लघु उद्यमों, को दिया गया पंजीकरण प्रमाणपत्र दो वर्षों के लिए वैध है और पंजीकृतसूक्ष्म और लघु उद्यम की निरंतर वाणिज्यिक और तकनीकी क्षमता की पुष्टि करके हर दो साल के बाद समीक्षा और नवीनीकरण किया जाएगा। उन स्‍टोर्स का निर्माण / उत्पादन करना जिनके लिए यह एनएसआईसी से द्वारा पंजीकृत किया गया है।


क्र.सं.. डाउनलोड फाइल
1. नए पंजीकरण/अनुबंध की जांच-सूची (1-13)  View
2. पंजीकरण के नवीनीकरण के लिए जांच-सूची (14)  View
3. अनंतिम पंजीकरण की जाँच-सूची (15)  View
4. पंजीकरण में संशोधन के लिए जाँच-सूची (16A-16G)  View
5. निरीक्षण शुल्क (17ए-17ई) के साथ पैनल में शामिल एजेंसियों की सूची  View
6. अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न (अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न) (18A-18D)  View
7. 358 आरक्षित मदों की सूची (19A-19H)  View
8. सभी चेक-लिस्ट पूर्ण डाउनलोड  View
9. यहां से आवेदन करें  Apply
10. एसपीआरएस प्रमाणपत्र सत्‍यापित करें  Verify

अद्यतनीकरण : 06-10-2020